ब्रह्मांड के बारे में जानकारी | Information about the universe in Hindi


ब्रह्मांड क्या है?


द्रव्य और ऊर्जा के सम्मिलित रूप को ब्रह्मांड कहते हैं। ब्रह्माण्ड का वैज्ञानिक अध्ययन ब्रह्माण्ड विज्ञान (Cosmology) के अंतर्गत किया जाता है। और आकाशीय पिंडो की भौतिक विशेषताओं का वैज्ञानिक अध्यन (Astrophysics) के अंतर्गत किया जाता है। ब्रह्माण्ड में असंख्य तारे, ग्रह, उल्का पिंड और गैसीय कण है जिन्हें खगोलीय पिंड कहते है ये अपनी निश्चित कक्षा में गति करते है। सितारे, तारे और उपग्रह सभी एक दूसरे को गुरुत्वाकर्षण के कारण अपनी तरफ आकर्षित करते हैं।

दूरी मात्रक

प्रकाश वर्ष (Light Year) – एक साल में प्रकाश द्वारा तय की गई दुरी प्रकाश वर्ष कहलाती है।
1 Light Year = 9.46 x 10^15m = 9.461 trillion Km
1 पारसेक = 3.26 प्रकाश वर्ष


ब्रह्मांड की उत्पत्ति से सम्बंधित सिद्धांत :


    • महाविस्फोट सिद्धान्त या बिग बैंग सिद्धान्त (Big Bang Theory) : जॉर्ज लैमेंटर

    • दोलन सिद्धांत (Pulsating Universe Theory) : डॉ. एलन संडेज

    • साम्यावस्था सिद्धांत (Steady State Theory) : थॉमस गोल्ड एवं हर्मन बांडी

ब्रह्मांड से जुड़े कुछ तथ्य :


    • ब्रह्मांड के बारे में सबसे विश्वसनीय थ्योरी है बिग बैंग थ्योरी के मुताबिक शून्य के आकार का ब्रह्मांड बहुत ही गरम था, इसकी वजह से इसमें विस्फोट हुआ और वो असंख्य कणों में फैल गया। तब से लेकर अब तक वो लगातार फैल ही रहा है।

    • ब्रह्मांड का आकार बढ़ता गया तब तापमान और घनत्व कम हुआ जिसकी वजह से गुरुत्वाकर्षण बल, विद्युतचुम्बकीय बल और अन्य बलों का उत्सर्जन हुआ इसके बाद सौरमंडल बना।

    • ब्रह्मांड में अब तक 20 अरब आकाशगंगाएं होने का अनुमान है.

    • अवलोकन योग्य ब्रह्माण्ड का व्यास वर्तमान में लगभग 28 अरब पारसैक (91 अरब प्रकाश-वर्ष) है।

    • पूरे ब्रह्माण्ड का व्यास अज्ञात है, और ये अनंत हो सकता है।



अगर आपको यह पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ Share जरुर करे।

Tag :ब्रह्मांड, ब्रह्मांड के बारे में, ब्रह्मांड की उत्पत्ति, ब्रह्मांड क्या है, ब्रह्मांड का रहस्य, ब्रह्मांड की जानकारी, ब्रह्मांड पुराण, ब्रह्मांड कितना बड़ा है, ब्रह्मांड कैसे बना, ब्रह्मांड का चित्र, ब्रह्मांड किसे कहते हैं, ब्रह्मांड की रचना, ब्रह्मांड की संरचना, what is Cosmology, what is astrophysics

Post a Comment

Previous Post Next Post